Wednesday, 17 October 2018, 2:07 AM

धर्म कर्म

जन्माष्टमी स्पेशल: ये हैं कृष्ण की 8 पटरानियां, ऐसे हुई थी इनकी शादी

Updated on 1 September, 2018, 7:00
भगवान कृष्ण का सम्पूर्ण जीवन रहस्य और ज्ञान से भरा हुआ है, महज अड़तीस की उम्र में कर्मयोगी कहलाए। ऐसे में उनकी शादियां की कथा भी काफी प्रचलित है। भगवान कृष्ण ने प्रेम तो राधा से किया लेकिन वह पत्नी ना बन सकीं। कृष्णजी की 16,108 पत्नियां थी लेकिन इनमें... Read More

जन्माष्टमी 2018: संतान प्राप्ति के लिए करें इस मंत्र का जाप, कान्हा करेंगे मनोकामना पूरी

Updated on 31 August, 2018, 13:45
नई दिल्ली: भगवान विष्णु के आठवें अवतार कृष्णजी का जन्म भारत सहित दुनियाभर में बहुत धूमधाम से मनाया जाता है. इस बार कृष्ण जन्माष्टमी पर ठीक वैसा ही संयोग बना है, जैसा द्वापर युग में बाल गोपाल के रूप में भगवान धरती पर अवतार लिया था. नि:संतान दंपतियों के लिए... Read More

गीता ज्ञानः ऐसे लोगों की भगवान हमेशा रक्षा करते हैं

Updated on 29 August, 2018, 7:20
अनन्याश्चिन्तयन्तो मां ये जना: पर्युपासते। तेषां नित्याभियुक्तानां योगक्षेमं वहाम्यहम् ।। गीता 9/22।। अर्थ : जो भक्तजन अनन्य भाव से मेरा चिंतन करते हुए मुझे पूजते हैं, ऐसे नित्ययुक्त साधकों के योगक्षेम को मैं स्वयं वहन करता हूं। व्याख्या : जिस व्यक्ति के मन में हर समय केवल परमात्मा ही बसें हों और... Read More

हनुमान जी के सिवा कोई नहीं कर सकता था यह 6 काम

Updated on 28 August, 2018, 7:00
शिव पुराण के अनुसार महावीर हनुमान जो को शिव जी का रौद्र अवतार माना जाता है। कहते हैं कि त्रेतायुग में श्रीराम की सहायता करने और पापियों का नाश करने के लिए हनुमान जी धरती पर अवतरित हुए थे। पौराणिक कथाओं के अनुसार हनुमान जी केवल एकमात्र एेसे देव थे,... Read More

क्यों गरूड़ को हुआ श्रीराम के भगवान होने पर शक

Updated on 26 August, 2018, 7:00
रामायण हिंदू धर्म का प्रमुख ग्रंथ, जिसके बारे में ज्यादातर लोग जानते ही हैं। हिंदू धर्म के इस ग्रंथ के रचयिता तुलीसदास जी है। लेकिन क्या आप जानते हैं तुलसीदास जी से पहले ही किसी ने पूरी राम कथा का प्रचार कर दिया था। जी हां, आज हम आपको बताएंगे... Read More

क्यों श्रीकृष्ण ने किया था कर्ण का अंतिम संस्कार

Updated on 25 August, 2018, 6:40
महाभारत की बात करे तो एेसे कई पात्र जिनका नाम आज भी याद किया जाता है। श्रीकृष्ण के अलावा पांडवों को महाभारत के नायक के रूप में जाना जाता है। लेकिन कौरवों को इतने मान-सम्मान से नहीं देखा जाता। लेकिन कौरवों में से कर्ण को उनका साथ देने के बावज़ूद... Read More

इस तरह शुरू हुआ रक्षाबंधन का त्योहार, ये हैं 5 पौराणिक रोचक कथाएं

Updated on 24 August, 2018, 7:00
भाई-बहन के अटूट प्रेम को समर्पित रक्षाबंधन का त्योहार इस बार 26 अगस्त रविवार को मनाया जाएगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि इस त्योहार की शुरुआत सगे भाई-बहनों ने नहीं की थी। रक्षाबंधन कब शुरू हुआ, इसे लेकर कोई तारीख स्पष्ट नहीं है। वैसे, माना जाता है कि इस... Read More

सफलता प्राप्त करने का श्रीकृष्ण ने बताया सबसे सरल तरीका

Updated on 24 August, 2018, 6:40
श्री श्री आनन्दमूर्ति प्रत्येक मनुष्य का जीवन सफलता के शिखर को छू नहीं पाता। इसका सबसे बढ़ा कारण उचित मार्गदर्शन का अभाव है। प्राचीन भारत में लगभग साढ़े तीन हजार वर्ष पूर्व एक योगी राजा हुए थे। उनके मार्गदर्शक भगवान कृष्ण थे। कृष्ण महान योगी थे। उस योगी राजा का नाम... Read More

हर बला से भाइयों की रक्षा करता है रक्षासूत्र, बांधने का यह है सही तरीका

Updated on 23 August, 2018, 6:20
  रक्षाबंधन के त्योहार के लिए बाजार तैयार है। बहनों ने अपने भाइयों के लिए राखियां लेना शुरू कर दिया है। जिनके भाई दूर रहते हैं, उनके लिए बहनों ने स्नेह के धागों से बनी राखियां भेज दी हैं ताकि उनके भाइयों की कलाई सूनी न रहे। भाई-बहन के प्रेम को दर्शाता... Read More

सतयुग से लेकर आजतक इन घटनाओं ने बढ़ाया राखी पर विश्वास

Updated on 22 August, 2018, 7:00
रक्षाबंधन मनाने के पीछे जितने भी कारण हैं उनमें कृष्ण-द्रौपदी की कहानी सबसे रोचक है। कथा है कि जब युधिष्ठिर इंद्रप्रस्थ में राज्याभिषेक होना था उस समय सभा में शिशुपाल भी मौजूद था। शिशुपाल ने भगवान श्रीकृष्ण का अपमान किया तो श्रीकृष्ण ने अपने सुदर्शन चक्र से शिशुपाल का सिर... Read More

इस स्‍थान पर मिलता है मां सरस्‍वती के साक्षात दर्शन का लाभ

Updated on 21 August, 2018, 7:00
कहते हैं भगवान अब भी धरती पर हैं और अपनी लीलाओं से भक्‍तों को कष्‍ट निवारण करने के साथ उनके दुखों को दूर करते हैं। इसका सबसे बेहतर उदाहरण है मां सरस्‍वती का यह मंदिर। उत्तराखंड में बद्रीनाथ धाम से करीब 3 किमी दूर माणा गांव है। यह भारत चीन... Read More

महाभारत के इस पात्र ने भी किया था बहुत बड़ा बलिदान, जानें कौन है ये

Updated on 21 August, 2018, 6:20
महाभारत हिंदू धर्म का एक प्रमुख ग्रंथ है। ये एकमात्र एेसा पुराण है जिसके पात्र आज भी चर्चा का विषय हैं। हिंदू धर्म का शायद ही कोई एेसा व्यक्ति होगा जिसे महाभारत के बारे में नहीं पता होगा। जब भी इस महाकाव्य की बात की जाती है तो पांडव और... Read More

वैष्णो देवी यात्रियों के लिए खुशखबरी, अब मिलेंगी हाईटेक सुविधाएं

Updated on 20 August, 2018, 20:15
जम्मू। जम्मू के कटरा में स्थित श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड दर्शनों के लिए आने वाले श्रद्धालुओं को हाईटैक सुविधाएं देने जा रहा है। यह सुविधाएं ऐसी हैं कि इसके बाद न सिर्फ श्रद्धालुओं की जान की सुरक्षा होगी बल्कि उनके माल की भी बचत होगी। बोर्ड ने घोड़ा-पालकी... Read More

ज्यादातर इस तरह के व्यक्ति फंसते हैं जन्म-मरण के चक्र में

Updated on 20 August, 2018, 7:00
सुरक्षित गोस्वामी ते तं भुक्त्वा स्वर्गलोकं विशालं क्षीणे पुण्ये मर्त्यलोकं विशन्ति | एवं त्रयीधर्ममनुप्रपन्ना गतागतं कामकामा लभन्ते || गीता 9/21|| अर्थ: वे उस विशाल स्वर्गलोक को भोगकर पुण्य क्षीण होने पर मृत्यु लोक में लौट आते हैं। इस प्रकार तीनों वेदों के धर्म का पालन करते हुए, भोगों की कामना करने वाले बार-बार... Read More

सावन: इस अचूक तरीके का करें इस्तेमाल, लाइफ में आएगा बड़ा बदलाव

Updated on 19 August, 2018, 11:30
सावन मास में शिव को प्रसन्न करने का यह एक अचूक तरीका हम आपके लिए लाए हैं। पूरी श्रद्धा और भक्ति से करके देखें जीवन में चमत्कार जरूर होगा। भक्त भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए बेलपत्र और शमीपत्र चढ़ाते हैं। इस संबंध में एक पौराणिक कथा के अनुसार... Read More

जब कलयुग चरम पर होगा तब जन्म लेंगे भगवान, ये होंगे पत्नी और संतान के नाम

Updated on 18 August, 2018, 6:40
शास्त्रों में बताया गया है कि जब कलयुग अपने चरम पर होगा तब भगवान विष्णु 10वां अवतार कल्कि के रूप में लेंगे। भगवान विष्णु ने अबतक नौ अवतार लिए हैं और ये अवतार त्रेतायुग, सतयुग और द्वापर युग में हुए थे। पुराणों में बताया गया है कि कलयुग में उनका... Read More

भगवान की जांघ से जन्मी थी यह अप्सरा, इंद्र हुए थे लज्जित

Updated on 17 August, 2018, 7:00
धर्मशास्त्रों के अनुसार, भगवान नर और नारायण ब्रह्मदेव के प्रपौत्र थे। ये ब्रह्माजी के बेटे धर्म और पुत्रबधु रुचि की संतान थे। ये भगवान विष्णु के अवतार हैं। पृथ्वी पर धर्म के प्रसार का श्रेय इन्हीं को जाता है। कहते हैं कि द्वापर युग में नर-नारायण की श्रीकृष्ण और अर्जुन... Read More

तिरुपति के बंद कपाट में तैयार हुआ अष्ट बंधन

Updated on 16 August, 2018, 6:41
तिरुपति के तिरुमाला वेंकटेश्वर मंदिर में मंगलवार 14 अगस्त को हर 12 साल पर होने वाला अष्ट बंधन संप्रोक्षणम् अनुष्ठान का आयोजन किया गया। इस आयोजन के कारण 9 अगस्त से लेकर 17 अगस्त की सुबह तक आम श्रद्धालुओं के लिए मंदिर के कपाट बंद हैं। इसकी वजह यह है... Read More

साल में एक बार सिर्फ नागपंचमी को खुलते हैं इस मंदिर के पट

Updated on 15 August, 2018, 7:00
उज्जैन। सनातन संस्कृति में नाग पूजा का विशेष विधान रहा है। भारत में सांपों को देवता माना जाता है और कई जगहों पर उनकी मूर्ति मंदिरों में स्थापित कर पूजा की जाती है। ऐसा ही विशेष मंदिर उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर में है, जिसको नागचंद्रेश्वर के नाम से जाना जाता... Read More

मौत कितनी हसीन है, आईए करीब से जानें

Updated on 14 August, 2018, 6:40
राजा परीक्षित को श्रीमद्भागवत पुराण सुनाते हुए जब शुकदेव जी महाराज को छ: दिन बीत गए और तक्षक (सर्प) के काटने से मृत्यु होने का एक दिन शेष रह गया, तब भी राजा परीक्षित का शोक और मृत्यु का भय दूर नहीं हुआ। मरने की घड़ी निकट आते देखकर राजा... Read More

जानें हरियाली तीज व्रत से जुड़ी 10 खास बातें-

Updated on 13 August, 2018, 10:26
1- हरियाली तीज व्रत करने के पीछे कथा है कि मां पार्वती ने भगवान शिव से विवाह करने के लिए बहुत ही कठिन तपस्या की थी। इस तपस्या से प्रसन्न होकर भगवान शिव ने आज ही के दिन यानी श्रावण मास शुक्ल पक्ष की तीज को मां पार्वती के सामने... Read More

अच्छी नहीं दोस्त और पत्नी की यह आदत, कहता है गरुड़ पुराण

Updated on 12 August, 2018, 8:20
पुराणों और धार्मिक शास्त्रों में हमारे जीवन से जुड़े कई सूत्रों को बताया गया है। इन सूत्रों और नियमों के आधार पर अगर हम जीवन जिएं तो निश्चित ही हमारे कई कष्ट अपने आप दूर हो जाएंगे। गरुड़ पुराण में पत्नी, सच्चे मित्र और सही नौकर के बारे में कुछ... Read More

सावन की किस खास पूजा ने श्रीराम को दिलाई थी जीत

Updated on 12 August, 2018, 6:40
जब सृष्टि की संरचना हुई तब से ही शिवलिंग की पूजा होती आ रही है। पुराणों और शास्त्रों में भी शिवलिंग के महत्व के बारे में कई जगह उल्लेख किया गया है। शिवलिंग की महत्वता के बारे में इस बात से पता चलता है कि श्रीहरि ने भी अपने राम... Read More

Surya grahan 2018: साल का आखिरी सूर्य ग्रहण आज, इन राशियों को होगा लाभ

Updated on 11 August, 2018, 9:45
surya grahan in august 2018: आज इस साल का सबसे आखिरी सूर्य ग्रहण लगेगा। भारत के समय अनुसार यह ग्रहण दोपहर 1 बजे लगेगा।  ज्योतिर्विद पं दिवाकर त्रिपाठी पूर्वांचली के अनुसार भारत में सूर्य ग्रहण के दृश्य नही होने के कारण इसकी धार्मिक मान्यता नही है ,तथापि गोचरीय दृष्टि से... Read More

माता सीता की मदद से श्रीराम ने पास की थी ये परीक्षा

Updated on 11 August, 2018, 7:00
जैसे कि को पता है कि सावन का पावन महीना चल रहा है, इस माह में शिव का पूजन विशेष रहता है। शिव पुराण में इस महीने में किए जाने वाली पूजन के साथ-साथ इसके महत्व के बारे में भी बताया गया है। इसके अनुसार जो भी साधक इन दिनों... Read More

सर्वनाश का कारण बनती हैं ये 9 बातें, रामायण के अनुसार

Updated on 10 August, 2018, 6:40
रावण बहुत विद्वान था। धार्मिक पुस्तकों में उसे प्रखांड पंडित की उपाधि भी दी गई है। लेकिन कुछ अवगुणों के कारण वह अपने परिवार के साथ ही सोने की लंका को भी गंवा बैठा और आज भी उसे एक दुराचारी और पापी की तरह ही देखा जाता है। रावण का... Read More

साल का आखिरी सूर्यग्रहण चीन के लिए अशुभ, भारत में रहने वालों पर प्रभाव जानें

Updated on 10 August, 2018, 6:20
मेदिनी ज्योतिष में ग्रहण के समय बनानेवाली ग्रह स्थिति का बहुत महत्व है। इसका उपयोग मौसम में होनेवाले परिवर्तनों, वर्षा, बाढ़ और भूकंपन आदि की भविष्यवाणियों के लिए किया जाता हैl क्योंकि ग्रहण राजसी ग्रहों सूर्य और चंद्रमा पर लगता है तो इसलिए इसका प्रभाव महत्वपूर्ण व्यक्तियों और शासक वर्ग... Read More

सावन शिवरात्रि आज, बना अनोखा शुभ संयोग, पूरी होगी शिवभक्तों की मनोकामना

Updated on 9 August, 2018, 12:45
वैसे तो प्रत्येक महीने कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मासिक शिवरात्रि मनाई जाती है। इस समय सावन का महीना चल रहा है जिसके कारण शिवरात्रि का बहुत महत्व है। सावन महीने के शिवरात्रि को सबसे ज्यादा शिवलिंग पर जल इसी दिन चढ़ाया जाता है। इस मौके पर देशभर के... Read More

इस युद्ध को रोकने के लिए स्वयं शिव पधारे थे पृथ्वी पर

Updated on 9 August, 2018, 8:20
अपने भक्तों के कष्ट हरने के लिए शिव समय-समय पर पृथ्वी पर आते हैं। ऐसा ही एक वाकया द्वापर युग में महाभारत के युद्ध के बाद हुआ। यह युद्ध इतना भीषण था कि इसे समाप्त कराने के लिए स्वयं भगवान शंकर पृथ्वी पर प्रकट हुए थे। यह युद्ध था स्वयं... Read More

इस वजह से भगवान शिव को कहा जाता है पशुपति, इन्होंने दिया था आशुतोष नाम

Updated on 9 August, 2018, 7:00
श्री श्री आनन्दमूर्ति वज्र शिव का शक्तिशाली अस्त्र है। वज्र को शिव निरीह पशु-पक्षियों को बचाने के लिए तथा मानवता विरोधी व्यक्तियों के विरुद्ध व्यवहार में लाते थे। शिव जीवन के सब क्षेत्रों में अत्यंत संयमी कहे जाते हैं। इसलिए अस्त्र का व्यवहार वह कभी-कभार ही करते थे। उन्होंने अच्छे लोगों... Read More