Sunday, 21 January 2018, 3:38 PM

धर्म कर्म

पारद शिवलिंग : दर्शन मात्र से ही मिलता है मोक्ष

Updated on 19 August, 2013, 15:35
“रसात्परतरं लिंगम् न भूतो न भविष्यति ” अर्थात् पारदेश्वर से श्रेष्ठ शिवलिंग न हुआ है और न ही होगा । पारद शिवलिंग दर्शन मात्र से ही सुयश, आजीविका में सफलता, सम्मान, पद प्रतिष्ठा एवम् लक्ष्मी का सतत् आगमन होता है ।   भारतीय संस्कृति का वैशिष्ट्य है कि इसका निर्माण आध्यात्म... आगे पढ़े

अमरनाथ यात्रा फिर शुरू, 255 श्रद्धालुओं का जत्था रवाना

Updated on 17 August, 2013, 15:43
जम्मू पिछले दो दिन से रुकी अमरनाथ यात्रा आज फिर शुरू हो गई। 255 श्रद्धालुओं के जत्थे को जम्मू से अमरनाथ की पवित्र गुफा के दर्शन के लिए रवाना किया गया। खराब मौसम के कारण 15 अगस्त से जम्मू से यात्रा रोक दी गई थी।    पुलिस अधिकारियों ने कहा कि कुल 255... आगे पढ़े

मनसा देवी की कृपा से बनेंगे सारे काम...

Updated on 17 August, 2013, 10:23
हरिद्वार देवी का एक ऐसा धाम है, जहां दर्शन मात्र से और जिनका नाम लेने भर से भक्तों की मन्नतें पूरी हो जाती हैं. ये हैं हरिद्वार की मां मनसा. मां नाम के अनुरूप ही भक्तों की समस्त मंशाओं को पूरी कर देती हैं. अगर आपकी कुंडली में कालसर्प दोष का साया... आगे पढ़े

अमरनाथ के लिए रवाना हुई ‘छड़ी मुबारक’

Updated on 16 August, 2013, 16:53
श्रीनगर भगवान शिव की प्रसिद्ध ‘छड़ी मुबारक’ को 55 दिन तक चलने वाली अमरनाथ यात्रा के अंतिम चरण में आज दक्षिण कश्मीर के हिमालय में 3,880 मीटर की ऊंचाई पर स्थित अमरनाथ गुफा मंदिर के लिए ले जाया गया। भगवा वस्त्र से सजी छड़ी मुबारक को इसके संरक्षक महंत दीपेंद्र गिरी... आगे पढ़े

मेहकर में पाएं बालाजी संग ब्रह्मा और विष्णु के दर्शन

Updated on 15 August, 2013, 11:26
नागपुर सावन के महीने में महादेव के दर्शनों की चाह हर भक्त के मन में होती है, लेकिन अगर आपको महादेव के साथ-साथ ब्रह्मा और विष्णु के भी दर्शन हो जाएं, तो सोने पर सुहागे वाली बात हो जाए. मेहकर के शारंगधर बालाजी के दरबार में जहां बालाजी का दिव्य रूप... आगे पढ़े

धरती की कुंडली पर कालसर्प दोष का साया

Updated on 14 August, 2013, 8:48
नई दिल्ली काशी में अपने ज्योतिष अनुभवों से ग्रहों की चाल मापने वाले ज्योतिषशास्त्रियों की नजर में हिंदुस्तान से लेकर विदेश तक जो भी बाढ़ और बारिश का प्रकोप देखने को मिल रहा है, उनके पीछे हैं चार ग्रहों का खेल. ये ग्रह हैं बुध, शुक्र, मंगल और बृहस्पति.  सारा किया... आगे पढ़े

आज के दिन अवतार लेंगे कल्कि भगवान

Updated on 12 August, 2013, 17:44
भगवान विष्णु के अब तक नौ अवतार हो चुके हैं और दसवें अवतार की प्रतीक्षा चल रही है। पुराणों में भगवान के दसवें अवतार की जो तिथि बतायी गयी है उसके अनुसार भगवान सावन मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को जन्म लेंगे। यह पावन तिथि इस वर्ष आज है।... आगे पढ़े

सिर्फ स्त्रियां ही क्यों मनाती हैं तीज?

Updated on 10 August, 2013, 17:02
हरियाली तीज प्रकृति से एकाकार होने का पर्व है। आखिर यह पर्व सिर्फ स्त्रियां ही क्यों मनाती हैं ? जवाब है कि मेल मिलाप का गुण सिर्फ स्त्री के ही पास है। वही प्रकृति की तरह बन सकती है। पुरुष तो अपने अहं में ही उलझा रहता है। स्त्रियां ही तीज... आगे पढ़े

सावन के महीने में क्यों होती है नागों की पूजा

Updated on 10 August, 2013, 17:00
भले ही लोग साल भर सांप को देखते ही लाठी डंडे लेकर मारने दौड़ते हों लेकिन सावन एक ऐसा महीना है जब सांपों को मारने की बजाय उनका दर्शन ईश्वर के दर्शन के समान पुण्यदायी माना जाता है। इस महीने में सांप को मारने की बजाय लोग उसे दूध और... आगे पढ़े

दूध की कटोरी से नागिन हुई प्रसन्न

Updated on 10 August, 2013, 16:58
नागपंचमी के दिन नागों की पूजा की जाती है। मगर यह पूजा क्यों की जाती है? दरअसल नागों की पूजा से संबंधित कई कथाएं अलग-अलग क्षेत्रों में सुनी-सुनाई जाती है। इन कथाओं में नागपंचमी पूजन का महत्व एवं इसकी शुरूआत कैसे हुई यह बताया गया है। पहली कथाः दूध की कटोरी... आगे पढ़े

...यहां तिल के अभिषेक से प्रसन्‍न हो जाते हैं शिव

Updated on 8 August, 2013, 13:32
नई दिल्‍ली देवों के देव महादेव की पसंद और नापसंद भी बिल्कुल अलग है. तिलकेश्वर महादेव देखने में भले ही किसी भी दूसरे मंदिर में विराजने वाले शिव की तरह लगें, लेकिन इन्हें प्रसन्न करना आसान नहीं. तिलकेश्वर महादेव के नाम में छिपी है वो कहानी जिसकी वजह से देश के शिव... आगे पढ़े