Friday, 16 November 2018, 3:01 PM

जीवन मंत्र

हंसी हर जगह है बस हंसने के बहाने ढूंढिए

Updated on 7 May, 2015, 7:03
कन्नड़ लेखक एच. योगनसिंहम् ने महर्षि कर्वे ( भारतरत्न 1958 धोंडो केशव कर्वे) की आत्मकथा 'लुकिंग-बैक' का कन्नड़ में अनुवाद किया था। उनसे सिर्फ पत्र व्यवहार द्वारा ही परिचय था पर महर्षि कर्वे से वह कभी मिले नहीं थे। एक बार जब वे पूना गए तो वे महर्षि कर्वे से भेंट... Read More

मिलेगी कॅरियर में कामयाबी

Updated on 5 May, 2015, 12:28
हम सभी अपने-अपने जीवन में आगे बढऩा चाहते हैं। यदि आप भी अपने कॅरियर में आगे बढऩा चाहती हैं तो अपनी योग्यता व कार्यक्षमता को पहचानें और उनका अपने स्तर से आकलन करें। अपनी शक्ति का आकलन किए बगैर आप आगे नहीं बढ़ सकतीं... कॅरियर काउंसलर रिद्धि सिंह का कहना है... Read More

खुशनुमा पल जिंदगी के

Updated on 4 May, 2015, 13:06
क्या पैसा खुशी दे सकता है? क्या धन से संतोष खरीदा जा सकता है? यदि कहें हां, तो ढेर सारे सवाल पैदा होंगे। लेकिन इस बात में कोई दो राय नहीं कि कल्याणकारी कार्यों में लगा धन आत्मसंतोष तो देता ही है, साथ ही जिंदगी के हर पल को बना... Read More

स्वयं को मूल्यहीन न समझें

Updated on 4 May, 2015, 7:20
व्यक्ति कई मौकों पर खुद को मूल्यहीन समझने लगता है। ऐसे में किसी भी तुलना से दूर रहते हुए खुद पर भरोसा रखकर आगे बढ़ना ही आपका मंत्र होना चाहिए। क्या वाकई मैं कुछ अच्छा काम नहीं कर रहा हूं? क्या मैं अपनी पूरी क्षमता से काम कर पा रहा हूं?... Read More

जानिए भ्रम और ब्रह्म के बीच का फर्क

Updated on 1 May, 2015, 8:41
संस्कृत भाषा में परम सत्य को 'ब्रह्म' का नाम दिया है। 'ब्रह्म' परम सत्य का साकार रूप है। इस परम संभावना को ग्रहण करने में अगर जरा चूक हो, तो 'भ्रम' की स्थिति बन जाती है। इसलिए कहा है कि अज्ञानता और ज्ञान में बस जरा सा फर्क है। इस परम... Read More

...टिस तब उठती है जब पहला प्यार अधूरा रह जाता है

Updated on 30 April, 2015, 13:33
न जाने कब से इस दिन का इंतजार था, बस मैं और आप हो दिल से दिल की बात हो, रूहों की सौगाते हो कुछ जवां रातें हो, प्यार हो....इश्क हो.....मुहब्बतें हो। इनके सिवा कुछ न हो । अगर मैं प्यार की बातें करूं तो शायद ही कोई ऐसा होगा।... Read More

न होगी आपस में तकरार

Updated on 27 April, 2015, 13:06
अक्सर पति-पत्नी के बीच आपस में तकरार बेहद साधारण बातों की वजह से होती है। अगर दोनों थोड़ी सी समझदारी दिखाएं तो इस तकरार को आसानी से टाला जा सकता है - आपस में बहस से बचना चाहिए, इससे हासिल कुछ नहीं होता। मूल बात गहरे दब जाती है और फालतू... Read More

एक के साथ दूसरी बीमारियों का खतरा

Updated on 25 April, 2015, 13:46
अकसर लोग मुख्य बीमारी के साथ पैदा होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं को नजरअंदाज कर देते हैं, जो आगे चलकर दोगुनी मुसीबत का सबब बन जाती है। सेहत की हिफाजत के लिए ऐसी शैडो डिजीज के बारे में जानना बहुत जरूरी है। पुरानी कहावत है कि कोई भी मुसीबत अकेले नहीं आती।... Read More

कैसी हो आपकी पहली मुलाकात

Updated on 24 April, 2015, 13:03
सभी चाहते है कि किसी से पहली बार मिलने पर ऐसी छाप छोड़ें कि उसके मन-मस्तिष्क में उम्र भर के लिए अच्छी राय बन जाए, लेकिन ज्यादातर लोगों को यह तकनीक ही नहीं आती कि पहली ही मुलाकात में कैसे किसी को हमेशा के लिए अपना प्रशंसक बनाया जा सकता... Read More

मित्रों से मिलती है खुशी

Updated on 22 April, 2015, 12:22
सच्चे दोस्त जीवन के हर मोड़ पर साथ देते हैं। इस बात से आप भी सहमत होंगी कि वे लोग तकदीर वाले होते हैं, जिन्हें अच्छे दोस्त मिलते हैं। ऐसा हम नहीं कह रहे हैं, बल्कि यह एक अध्ययन का निष्कर्ष है। जर्मनी में हुए एक अध्ययन के अनुसार अच्छे... Read More

खुद पर है कितना भरोसा

Updated on 21 April, 2015, 12:52
अपने सोचे कामों के लिए आप किसी पर भी निर्भर नहीं रहतीं या अपनी असफलताओं के लिए दूसरे को जिम्मेदार ठहराती है? आप आत्मनिर्भर है या टालू प्रवृलि की, वास्तविकता जानने के लिए कुछ प्रश्नों का जवाब ईमानदारी से दें 1. आपने दोस्तों के साथ घूमने का प्रोग्राम बनाया हो और... Read More

मां ही मां को पहचाने

Updated on 20 April, 2015, 13:31
देखो-देखो कैसे हँस रही है, तुम जब छोटी थी तो बिल्कुल ऐसे ही हँसती थी। पता नहीं बड़ी होकर कैसी बनेगी, लेकिन अभी तो तुम्हारी ही डुप्लीकेट लग रही है। मुझे तो वह दिन याद आ रहा है जब तुमने मेरी गोद में अपनी आंखें खोली थीं। कुछ इसी तरह... Read More

सोच-समझ कर दें सलाह

Updated on 17 April, 2015, 13:29
हमारे बीच कुछ ऐसे भी लोग होते हैं, जो लोगों की पूरी बात सुनने-समझने से पहले ही अपनी सलाह देने को आतुर रहते हैं। इससे कई बार बड़ी विचित्र और हास्यास्पद स्थिति पैदा हो जाती है। लोग ऐसे व्यक्तियों को देखकर उनसे कतराने लगते हैं। कहीं आपका नाम भी ऐसे... Read More

वास्तव में वही धनवान है

Updated on 15 April, 2015, 11:57
सफल और सार्थक जीवन का सबसे बड़ा आधार-सूत्र संतोष है। संतोष के परम सुख के विषय में एक संत ने कहा है कि चाह से ही चिंता उत्पन्न होती है। चिंता ही दुख का कारण है। जिसकी चाहत समाप्त हो गई है वह प्रसन्न है, जितना है उसी में खुश... Read More

जीवन एक दर्पण है

Updated on 15 April, 2015, 11:54
सर्वधर्मान्परित्यज्य मामेकं शरणं व्रज। अहं त्वां सर्वपापेभ्यो मोक्षयिष्यामि मा शुच:॥18-66॥ अर्थ : सभी धर्मों को त्यागकर केवल मेरी शरण में आ जाओ...मैं तुम्हें सभी पापों से मुक्ति दिला दूंगा, इसलिए शोक मत करो...। व्याख्या : श्रीकृष्ण अकर्मण्य होने की शिक्षा नहीं दे रहे हैं। वे पहले ही कह चुके हैं कि परिणाम की... Read More

तनाव बन जाए ताकत

Updated on 14 April, 2015, 12:03
कॅरियर में उपलब्धियों की खनक है, पर फिर भी जिंदगी में सुकून नहीं...। रह-रहकर घेर लेती हैं चिंताएं और अवसाद। दीपिका पादुकोण जैसी सफल बॉलीवुड अभिनेत्री भी बच नहीं पाईं अवसाद से। उनका उदाहरण यह बयां करने के लिए काफी है कि आधुनिक मल्टीटॉस्किंग सुपरवुमन की जिंदगी किस कदर प्रभावित... Read More

सेहत और सौंदर्य के साथी हैं विटामिन्स

Updated on 13 April, 2015, 10:26
जिस प्रकार से गाड़ी को चलाने के लिए ईंधन की आवश्यकता होती है। ठीक उसी प्रकार से हमारे शरीर को स्वस्थ रखने के लिए विभिन्न विटामिन्स बहुत जरूरी हैं... वैज्ञानिकों और चिकित्सकों का कहना है कि संतुलित भोजन करके ही स्वस्थ रहा जा सकता है। चिकित्सकों के अनुसार जो महिलाएं हरी... Read More

खुद करें पहल

Updated on 12 April, 2015, 9:00
आप कोई भी कोर्स कर रहे हों या एडमिशन लेने जा रहे हों, कोर्स के दौरान सिर्फ संस्थान के भरोसे ही न रहें। यह कतई न सोचें कि एक बार एडमिशन ले लिया, तो पढ़ाने के साथ-साथ नौकरी के लिए तैयार करने और जॉब दिलाने की जिम्मेदारी संस्थान की हो... Read More

गुस्से की अभिव्यक्ति भी है जरूरी

Updated on 9 April, 2015, 11:49
अनीता पिछले दो घंटे से अपने ऑफिस के बाहर अनिरुद्ध का इंतजार कर रही है। आज उनकी मैरिज एनीवर्सरी है। अनिरुद्ध और उसने एक खुशगवार शाम गुजारने का इरादा किया था। अनिरुद्ध ने उसे पांच बजे पिक करने के लिए कहा था। लेकिन वह पहुंचा साढ़े सात बजे। अनीता गुस्से... Read More

स्मार्ट जेन को चाहिए स्मार्ट मॉम

Updated on 8 April, 2015, 14:10
आप कामकाजी हैं। बच्चों को क्वालिटी टाइम देती हैं। उनसे हर बात शेयर करती हैं। उनके टच में रहती हैं तो आप इस अपराधबोध से उबर जाएं कि आप अपने बच्चे को पूरा समय नहीं दे पा रही हैं या उसके साथ कोई अन्याय कर रही हैं। इस अपराधबोध से... Read More

महकाएं प्रेम का घरौंदा

Updated on 7 April, 2015, 13:03
दांपत्य जीवन में खुशहाली के लिए सबसे जरूरी है कि आपस में गलतफहमियां न पनपने पाएं। साथ ही अन्य छोटे-छोटे प्रयास भी बहुत जरूरी हैं। इनसे दांपत्य में मधुरता बनी रहती है और खुश्बू से आपका घरौंदा महकता रहता है... सहनशीलता जरूरी है दांपत्य जीवन में सफलता के लिए सबसे जरूरी है... Read More

क्रोध को करें नियंत्रित

Updated on 5 April, 2015, 13:11
एक ऐसा भाव है जो हम सभी के मन में बहुत बार आता है। यदि आपको अपने क्रोध को नियंत्रित करना आता है तो आप हमेशा और हर स्थिति में प्रसन्न रह सकती हैं... कई बार हमारे आपके मन में क्रोध-आक्रोश पनपने लगता है। जब इस क्रोध-आक्रोश की सही अभिव्यक्ति नहीं... Read More

बदला जीवन बदली जीवन शैली भी

Updated on 4 April, 2015, 9:21
आधुनिक दौर में प्रसार व प्रचार के साधनों में जिस तेजी से क्रांतिकारी परिवर्तन हुए हैं उसका सबसे बड़ा प्रभाव युवाओं पर पड़ा है। आज परिवर्तन लाने के लिए स्कूल-कॉलेज जाना जरूरी नहीं, टीवी व इंटरनेट ने बहुत कुछ सिखा दिया है। आज पहले के मुकाबले एक्सपोजर बहुत अधिक है।... Read More

इस तरह भर-भरकर पीते रहो जाम, जीवन की राह होगी आसान

Updated on 2 April, 2015, 12:52
ईश्वर की राह पर आप चल सको, ज्ञान की, सत्य की राह पर तुम बढ सको, इसके लिये निरंतर सुनने की, समझने की और समझे हुए को शोध करने की आवश्यकता आती है। बुद्ध का सूत्र है, ‘पाप न करना, पुण्य करना, चित्त का शोध करना, यही बुद्धों का शासन... Read More

सृजन- क्या दिल से जुड़ा है

Updated on 31 March, 2015, 7:53
सद्गुरु- किसी नई चीज़ का सृजन करने के लिए हमारे अंदर रचनात्मकता की जरुरत होती है। जैसे हम विचारों को मन से जोड़ते हैं, उसी तरह संगीत, चित्रकारी, लेखन जैसे रचनात्मक कार्यों को दिल से जोड़ा जाता है। क्या वाकई ये दिल से जुड़े है? मिहिर- क्या रचनात्मकता का मतलब यह... Read More

सहेज लो इन्हें खुशबू हैं बेटियां

Updated on 27 March, 2015, 12:18
कन्यापूजन के रूप में स्त्री के संरक्षण का संकल्प भी है नवरात्र। शक्ति की उपासना का यह पर्व तभी सार्थक होगा, जब इसे केवल परंपरा की तरह न निभाया जाए बल्कि भारत के हर घर में पूरी शिद्दत से गूंजे बेटियों को बचाने और उन्हें आगे बढ़ाने का शंखनाद... बेटी परिवार... Read More

यकीन कीजिए, आपको गुस्सा कोई नहीं दिला सकता

Updated on 24 March, 2015, 14:19
बहुत समय पहले की बात है। एक व्यक्ति किसी गांव में रहता था। लोग कहते थे कि उसे गुस्सा नहीं आता था। इस दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जिन्हें सिर्फ फिजूल की बातें ही सूझती हैं। ऐसे ही व्यक्तियों में से किसी एक ने निश्चय किया कि... Read More

जानकारी बढ़ेगी परेशानी घटेगी

Updated on 24 March, 2015, 12:47
दर्द ऐसे ही हो रहा है या लेबर पेन शुरू हो गया? गर्भावस्था के आखिरी सप्ताह में महिलाएं अमूमन इस परेशानी से जूझती हैं। पर, अगर जानकारी पहले से हो तो अंत समय के तनाव से बचा जा सकता है। लेबर पेन के क्या हैं संकेत, बता रही हैं पूनम... Read More

घर में मुस्कुराएंगी खुशियां

Updated on 23 March, 2015, 13:17
कितना अच्छा होगा वह घर, जहां सिर्फ खुशियां रहती होंगी। तनाव का दूर-दूर तक नामोंनिशा नहीं होता होगा! यह घर आपका भी हो सकता है। कैसे, बता रही हैं ममता अग्रवाल कल्पना करें कि दिन भर की थकान के बाद, जरूरी काम निपटाते हुए आप घर आती हैं और दरवाजा खोलते... Read More

इमली खाने के ये 7 फायदे नहीं जानते होंगे आप

Updated on 21 March, 2015, 8:42
इमली कच्ची हो या पक्की, भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिहाज से ही नहीं बल्कि सेहत के लिहाज से भी कई मामलों में फायदेमंद है। जानिए इमली खाने के सात बड़े फायदों के बारे में। इमली कई पोषक तत्वों से भरपूर है जिसमें विटामिन सी, ई और बी का प्रचुरता है।... Read More